गोविन्दमादिपुरुषं लिरिक्स आरती Govindam Adi Purusham Lyrics Aarti


Govindam Adi Purusham Lyrics Aarti


गोविन्दमादिपुरुषं लिरिक्स आरती


Govindam Adi Purusham By Lord Brahma

 

Govindam Adi Purusham Lyrics Aarti In Hindi

 

 गोविन्दमादिपुरुषं तमहं भजामि॥

गोविन्दमादिपुरुषं तमहं भजामि॥

गोविन्दमादिपुरुषं तमहं भजामि॥

गोविन्दमादिपुरुषं तमहं भजामि॥

Iskcon Bhajan Aarti
Iskcon Bhajan Aarti

 

वेणुं क्वणन्तमरविन्ददलायताक्षं

बर्हावतं समसिताम्बुदसुन्दराङ्गम्।

कन्दर्पकोटिकमनीयविशेषशोभं

Samsar Davanal Lyrics Aarti

गोविन्दमादिपुरुषं तमहं भजामि॥

गोविन्दमादिपुरुषं तमहं भजामि॥

गोविन्दमादिपुरुषं तमहं भजामि॥

गोविन्दमादिपुरुषं तमहं भजामि॥

 

अङ्गानि यस्य सकलेन्द्रियवृत्तिमन्ति

पश्यन्ति पान्ति कलयन्ति चिरं जगन्ति।

आनन्दचिन्मयसदुज्ज्वलविग्रहस्य

 

गोविन्दमादिपुरुषं तमहं भजामि॥

गोविन्दमादिपुरुषं तमहं भजामि॥

गोविन्दमादिपुरुषं तमहं भजामि॥

गोविन्दमादिपुरुषं तमहं भजामि॥

Namaste Narasimhaya Lyrics Aarti 

गोविन्दमादिपुरुषं तमहं भजामि॥

गोविन्दमादिपुरुषं तमहं भजामि॥

गोविन्दमादिपुरुषं तमहं भजामि॥

गोविन्दमादिपुरुषं तमहं भजामि॥

 

हरे कृष्णा हरे कृष्णा कृष्णा कृष्णा हरे हरे

हरे कृष्णा हरे कृष्णा कृष्णा कृष्णा हरे हरे

हरे कृष्णा हरे कृष्णा कृष्णा कृष्णा हरे हरे

हरे कृष्णा हरे कृष्णा कृष्णा कृष्णा हरे हरे

 

इस्कॉन तुलसी लिरिक्स आरती

अर्थ

मैं आदिपुरूष भगवान्‌ गोविन्द का भजन करता हूँ ।

(1) जो वेणु बजाने में दक्ष हैं, कमल की पंखुडियों जैसे जिनके प्रफुल्ल नेत्र हैं, जिनका मस्तक मोरपंख से आभूषित है, जिनके अंग नीले बादलों जैसे सुंदर हैं और जिनकी विशेष शोभा करोड़ों कामदेवों को भी लुभाती है, उन आदिपुरुष भगवान्‌ गोविंद का मैं भजन करता हूँ।

(2) जिनका दिवय श्री विग्रह आनंद, चिन्मयता तथा सत्‌ से पूरित होने के कारण परमोज्जवल है, जिनके चिन्मय शरीर का प्रत्येक अंग अन्यान्य सभी इंद्रियों की पूर्ण-विकसित वृत्तियों से युक्त है, जो चिरकाल से आध्यात्मिक एवं भौतिक दोनों जगतों को देखते, पालन करते तथा प्रकट करते हैं, उन आदिपुरुष भगवान्‌ गोविंद का मैं भजन करता हूँ।

Jaya Gorachander Lyrics Aarti


 

Govindam Adi Purusham Lyrics Aarti In English

Namamishram Sachchidanand Rupam Lyrics Stuti

govindam adi purusham tam aham bhajami
govindam adi purusham tam aham bhajami
govindam adi purusham tam aham bhajami
govindam adi purusham tam aham bhajami
 
Hindi Katha Bhajan Youtube
Hindi Katha Bhajan Youtube

 

 
venum kvanantaravinda-dalayataksham
barhavatamsam asitam
buda-sundarangam
kandarpa-kothi-kamaniya
-vis’esha s’obham
govindam adi-purusham tam aham bhajami
govindam adi-purusham tam aham bhajami
govindam adi-purusham tam aham bhajami
govindam adi-purusham tam aham bhajami
 
 
angani yasya sakalendriya-vrittimanti
pasyanti panti kalayanti ciram jaganti
ananda-cin-maya-saduj-jvala-vigrahasya
govindam adi-purusham tam aham bhajami
govindam adi-purusham tam aham bhajami
govindam adi-purusham tam aham bhajami
govindam adi-purusham tam aham bhajami
 
govindam adi-purusham tam aham bhajami
govindam adi-purusham tam aham bhajami
govindam adi-purusham tam aham bhajami
govindam adi-purusham tam aham bhajami
 
Hare Krishna Hare Krishna Krishna Krishna Hare Hare
Hare Krishna Hare Krishna Krishna Krishna Hare Hare
Hare Krishna Hare Krishna Krishna Krishna Hare Hare
Hare Krishna Hare Krishna Krishna Krishna Hare Hare

हम उम्मीद करते हैं की आपको यह भजन ‘गोविन्दमादिपुरुषं लिरिक्स आरती Govindam Adi Purusham Lyrics Aarti‘ पसंद आया होगा। इस प्रकार के इस्कॉन भजन आरती पढ़ने और सुनने के लिए पधारे। इस भजन के बारे में आपके क्या विचार हैं हमें कमेंट करके जरूर बताये।

आध्यात्मिक प्रसंग, लिरिक्स भजन, लिरिक्स आरतिया, व्रत और त्योहारों की कथाएँ, भगवान की स्तुति, लिरिक्स स्त्रोतम, पौराणिक कथाएँ, लोक कथाएँ आदि पढ़ने और सुनने के लिए HindiKathaBhajan.com पर जरूर पधारे। धन्यवाद

Leave a Comment